Tharindia
अगर चीन के साथ युद्ध हुआ तो क्या हाल होगा चीन का अगर चीन के साथ युद्ध हुआ तो क्या हाल होगा चीन का
Monday, 10 Jul 2017 13:18 pm
Tharindia

Tharindia

चाइना वर्षो से अपने पड़ोसी देशो के साथ घिनोनी हरकते करता आ रहा है , जिस वजह से आज स्थिति ऐशी है की कोई भी पड़ोसी मुल्क उसके साथ नही है और अब सब के सब उसके दुसमन बन के बैठे है , वियतनाम,ताईवान,फिलिपिन्स,जापान और भारत सभी उसके खिलाफ खार खाए बैठे है भारत में तो चाइना से सटी सीमा पर ब्रम्होश मिसाइले टेंक तथा सुखोई जैसे विमान तैनात कर चाइना को कड़ा संदेश दिया है |

   भारत के साथ साथ जापान जो एक आर्थिक महाशक्ति बन चूका है आज जापान भी चाइना के खिलाफ खुल के सामने आता दिख रहा है जापान हमेशा से चाइना के खिलाफ सख्त रविया अपनाता आ रहा है , और विश्वयुद्ध के दौरान भी जापान ने चाइना को अच्छा सबक सिखाया था, अगर हम 1962 की तुलना में आज बेहद मजबूत हुवे है पर चाइना की रफ़्तार हमसे कई ज्यादा है , आज का चाइना 1962 वाला चाइना नही है बल्कि तब की तुलना में अब काफी आगे निकल चूका है |

    यह सर्वादित है की 1962 की लड़ाई में भारत को चाइना के हाथो करारी हार मिली थी | उस जंग में भारत के करीब 1300 सैनिक मरे गए थे , और 1000 से ज्यादा सैनिक घायक हुवे थे 1500 सैनिक लापता हो गये थे और करीब 4000 से ज्यादा सैनिक चाइना ने बंदी बना लिए थे | वंही चाइना के करीब 700 सैनिक मारे गये थे और 1500 ज्यादा घायल हुवे थे , इसी को ध्यान में रख कर चाइना ने इतिहास  से सबक लेने की चेतावनी भारत को दे डाली , अगर जापान और चाइना की बात करे तो जापान दखिण सागर में चाइना के अधिकार को लेकर कड़ा विरोध जताता आ रहा है |

  आपको बता दे की चाइना दक्षिण सागर में अपना अधिकार जमाना चाहता है जिससे दक्षिण एशिया के सभी देश खफा है , जापानी मिडिया का कहना है की दक्षिण सागर पर सबका अधिकार सम्मान है  लेकिन चाइना अपनी हेकड़ी दिखा रहा है , जापानी मिडिया ने यह भी कहा की चाइना अब बातों से नही मानने वाला अब सभी देशो को मिलकर उसको उसी की भाषा में जवाब देना होगा | एक और जहा भारत और जापान विरोध जता रहे ह वही दूसरी और वियतनाम और ताईवान भी चाइना के साथ सख्ती से पेश आ रहे हें , इसके अलावा जापान के मिडिया में कहा जा रहा है की आने वाले समय में भारत और  चाइना के बिच युद्ध की सम्भावनाये हें और अगर ऐसा होता है तो जापान भारत का खुल कर साथ देगा

   हम आपको यह भी बता दे की चाइना के हर एक पड़ोसी  देश से संबध बेहद खराब है चाइना ने हर एक देश में अतिक्रमण करने की कौशिश की जिसके परिणाम में अब सारे पड़ोसी देश भारत के साथ मिलकर चाइना को जवाब देना चाहते है |

 चाइना प्रतिदिन अपने नए नए हथियार दिखाकर दुनिया के सामने अपनी प्रतिस्था बनाना चाहता है  लेकिन भारत की बात करे तो भारत के पास ऐसे रक्षा कवच और इससे  खतरनाक हथियार है जिन्हें चाइना का कोई भी हथियार भेद नही सकता | अब दोस्तों आप यह अनुमान लगा सकते है भारत और चाइना के पड़ोसी देश मिलकर चाइना का क्या हाल कर सकते है |

 दोस्तों ये थी हमारी आज की खबर अगर आपको खबर पसंद आई हो तो अपनी राय जरुर दीजिये |